झूठ-सच-राजनीति

भारत में गरीबी रेखा से निचे रहने वाले लोगों की संख्या 21.92% है |झारखण्ड, छतीसगढ़ के बाद दूसरा सबसे पिछड़ा राज्य है | झारखण्ड  में गरीबी रेखा से निचे रहने वाले लोगों की संख्या 36.96% है | ये सरकारी आंकड़ा है, वास्तविकता में ये संख्या काफी अधिक होगी |

मेरा झारखण्ड में गरीबों के साथ काम करने का जमीनी स्तर का अनुभव रहा है | जब मै झारखण्ड की राजधानी रांची के कुछ ब्लाक में काम कर रहा था, तो मुझे गरीबी का स्तर देख काफी हैरानी हुवी | जबकि मै झारखण्ड के गावों में ही पला-बढ़ा हूँ |मुझे आदिवाशी समुदाय के कई लोग ऐसे मिले, जिन्होंने कभी अपने ही शहर रांची को कभी ना देखा था | घुमाना छोड़ों, कई लोग सुबह का खाना बिना खाए, काम पे निकल जाते थे, ताकि शाम का खाना नसीब हो | ऐसे लोग अपनी जिंदगी से आशाहीन हो जाते हैं, और इनमे ज्यादातर लोग सिर्फ इसलिए जीतोड़ मेहनत करते हैं की उनके परिवार को भूखे न रहना पड़े | बीमार पड़े तो भगवान ही मालिक | इनकी  गरीबी, इनकी समस्या, काफी जटिल है |

झारखण्ड एक ओर जहाँ गरीबी और शोषण से लोग परस्त है , वहीँ सरकार, झारखण्ड के स्थापना के वक़्त से ही विफल रही | वजह साफ है, सरकार बनाने वाले ज्यातर विधायकों में काबिलियत की कमी है और साथ ही कईयों के हाथ अपराध से रंगे हैं |

एक वक़्त में जिनके हाथ खून में डूबे थे, आज वो खुद को गरीबों का मशीहा बताये फिर रहे | राजनीति में आ गए | लोग कभी जिनके नाम से कांपते थे, जिनके कारनामों से अख़बार भरा होता था, जिनके पीछे पुलिस दिन-रात भागे फिरती थी | आज वो हमारे विधायक एवं मंत्री हैं |

एक अपराधी से विधायक का सफ़र आसान नही होता, अगर कानून में थोड़ी भी बात होती |लेकिन झारखण्ड में जैसे ये एक चक्र सा है | लोग सुरुवात अपराध जगत से करते हैं | लोगों का खून बहा पैसे बनाते हैं, फिर वही पैसा उन्हें गरीबों का मसीहा बनाती है | असहाय जनता, ये भी मान लेती है…

 

One thought on “झूठ-सच-राजनीति

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s